Thursday, January 30, 2014

तू लौट आया है You Are Back

 
 
 
 
 
कुछ बदल गयी हूं मैं,
कुछ निखर गयी हूं मैं। 
 
सब कहते है, मेरी आंखे बोलने लगी है। 
सब कहते है, मेरी रंगत कुछ निखरने लगी है। 
सब कहते है, मेरी मुस्कान कुछ कहने लगी है। 
सब कहते है, मेरे कदम हर पल थिरकने लगे है। 
 
कुछ बदल गयी हूं मैं,
कुछ निखर गयी हूं मैं। 
 
 
सब कहते है, हंसती हूं अब बिन बात मैं। 
सब कहते है, गाती हूं अब हर राग मैं। 
सब कहते है, झूमती हूं अब हर पल मैं। 
सब कहते है, नाचती हूं अब हर ताल मैं। 
 
 
कुछ बदल गयी हूं मैं,
कुछ निखर गयी हूं मैं। 
लगता है,
तू लौट आया है, अब। 
 
 
 

1 comment: