Sunday, January 19, 2014

तेरा होना…… Your Presence

 
 
 
तेरा होना…… 
कितना सुंदर था ना, तेरा होना।
प्यारा सा इक अहसास था, तेरा होना।
 
मेरे थार से रीते मन की बारिश था, तेरा होना।
मेरे सूखे केशों का महकता गजरा था, तेरा होना।
मेरे बेरंग आंचल का रंग था, तेरा होना।
मेरी इक जोड़ी आंखों का काजल था, तेरा होना।
 
तेरा होना
स्वर्गिक एहसाह था, तेरा होना।
जीवन की तलाश था, तेरा होना।
मेरा वजूद था, तेरा होना।
 
मेरे लबों पर खिलती हंसी था, तेरा होना।
मेरी सूनी कलाई की चूड़ियां था, तेरा होना।
मेरी खाली अंगूठी का हीरा था, तेरा होना।
मेरे पैरों में शोर मचाती पायल था, तेरा होना।
 
कितना खूबसूरत था, तेरा होना 
और अब 
कितना बेरंग लेकिन नया है,
तेरा ना होना।
 
 
 

2 comments: